Overblog Follow this blog
Administration Create my blog

रिश्तों की महक

चलो रिश्तों में नयापन अंजाम देते हैं, कुछ गीले तुम करो कुछ खता हम मान लेते हैं चलो रिश्तों में नयापन अंजाम देते हैं, कुछ गीले तुम करो कुछ खता हम मान लेते हैं आज तेरे मुस्कराने पर चल हम क़त्ल हो जाएँ, कल तेरी हसी को हम दिल्लगी मान लेते हैं, तूने पूछा गर...

Read more
<< < 10 11